Archive for March, 2015

04
Mar
15

मेरा साया

कुछ दिनों पहले
खिड़कियों में लगे जंगले से
इक़ पोषीदा साया
मेरी नज़रों में इठलाया.

Continue reading ‘मेरा साया’

Advertisements